April 16, 2021
sankat mochan hanuman chalisa

Hanuman Chalisa Lyrics

Hanuman chalisa Lyrics ke lekhan ka shrey Tulsidas ko diya jaata hai, jo ek kavi-sant the, jo 16 vee shatabde mein rahate the. Hanuman chalisa ke bhajan ke antim pady mein Unake nam ka ullekh kiya hai. Hanuman chalisa ke 39 ven shlok mein kaha gaya hai ki jo koi bhi hanuman ke bhakti ke saath isaka jap karega, us par hanuman ke krpa hoge. Duniya bhar ke hindus mein, yah ek bahut lokapriya dhaarana hai ki sankat mochan hanuman chalisa ka jap gambher samasyaon mein hanuman ke daiveey hastakshep ka aahvaan karata hai.

हनुमान चालीसा तुलसीदास द्वारा लिखा गया है जो महान कवि-संत हैं। एक तुलसीदास 16 वीं शताब्दी में रहता था। हनुमान चालीसा शक मोचन हनुमान चालीसा से भी प्रसिद्ध है। तुलसीदास ने भजन (श्लोक) के अंतिम में उनके नाम का उल्लेख किया है। तुलसीदास ने हनुमान चालीसा के 39 वें श्लोक में कहा है कि जो कोई भी हनुमान के प्रति विश्वास और पूरी निष्ठा के साथ इसका जप करेगा, उस पर हनुमान की कृपा होगी और वह हमेशा सकारात्मकता के साथ आशीर्वाद देगा। दुनिया भर के हिंदुओं में, यह एक बहुत लोकप्रिय धारणा है कि चालीसा का जप गंभीर समस्याओं में हनुमान के दैवीय हस्तक्षेप का आह्वान करता है।

Hanuman Chalisa Lyrics
Hanuman Chalisa Iyrics

Hanuman Chalisa Lyrics In Hindi

हनुमान चालीसा का प्रारंभिक दोहा

श्री गुरु चरण सरोजा रजा, निज मन मुकुरु सुधारी …!
बरनौ रघुवर बिमला जासु, जो दयाकु फल चरै …. !!

बुद्धीं तनु जानिके, सुमिरौ पावना कुमारा …!
बाला बुधि विद्या देहु मोहि हरहु कलेसा विकारा … !!

हनुमान चालीसा

जया हनुमान ज्ञान गुन सागर
जया कपिसा तिहु लोका उजागर

राम दुता अतुलिता बल धामा
अंजनि पुत्र पंससुता नामा

महावरा विक्रम बजरंगी
कुमति निवार सुमति के संगी

कंचन बरन बिराजा सबेसा
काना कुंडला कुंचित केसा

हठ बज्र अउ धीवा बिराजै
कदे मुंजा जनेउ सजाई

शंकरा सुवन केसरी नंदना
तेजा प्रतापा महा जग बंदना

विद्यावना गुनि अति चतुरा
राम काज करिबे अतुरा

प्रभु चारित्र सुनिबे को रसिया
राम लखन सीता मन बसिया

सुखमय रूप धरि सियहि दीखा
बिकाता रूप धरी लंका जारवा

भीम रूप धरी असुर सहारा
रामचंद्र के काज सँवारे

लेआ सजिवनि लखना जिया
श्री रघुबीरा हरषि उर लाये

रघुपति कीन्हि बरुत बरई
तम मम प्रिया भरतहि सम भाय

सहस बदन तुम्हरो जस गावै
अस कहि श्रीपति कंठ लगावै

सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा
नारद सर्वदा अहिसा

जम कुबेर दिक्पाल जह ते
कबी कोबिदा कहै सकै ते

तुमा अपकार सुग्रीवहि कीन्हा
राम मिल्या रजपद दीन्हा

तुम्हारो मंत्र बिभीषण मन
लंकेश्वरा भए सब जग जाना

जुग सहस्र जोजन परा भानु
लील्यो ताहि मधुरा फला जनु

प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माही
जलधि लगि गय अचरज नाही

दुर्गमा काज जगत के जेते
सुगम एक अंगरा तुम्हरै तते

राम द्वारे तुमा राखेवारे
होत न अग्न्या बिनु पिसारे

सब सुख लहै तुम्हारी सरना
तुमा रक्षका कहु को दरना

अपन तेजा समरो अपाय
तिनौ लोका हका ते कपाई

भुत पिशाच निकत नहि आवै
महाबीरा जब नाम सुनावै

नासै राग हरै सब पीरा
जपता निरंतर हनुमत बीरा

संकटा ते हनुमान छुड़ावै
मन क्रम बचन ध्यान जो लावै

सबा परा राम तपस्वी राज
टीना के काज सकला तुमा साजा

आभा मनोरथ जो कोई लावै
सोहि अमिता जीवन फल पावै

चारो जुगा पारा तप ठहरा
है परसिद्ध जगता उजियारा

साधु संता के तुम राखेवारे
असुर निकंदन राम दुलारे

अष्ट सिद्धि नू निधि के दाता
आसा बर दीन्हा जानकी माता

राम रसना तुमहारे पासा
सदा रघुपति के दासा

तुम्हरें भजन राम को पावै
जनम जनम के दुख बिसरावै

अन्ता कला रघुबर पुर जाई
जह जनमा हरि भक्त कहई

आभा देवता चित्त न धरई
हनुमत सिय सरबा सुख करई

संकटा कटै मिटै सब पीरा
जो सुमिरै हनुमत बलबीरा

जया जया जया हनुमाना गोसाई
कृपा करहु गुरुदेव की नाई

जो शता बर पाथ कर कोइ
छुटि बंदि महा सुख होई

जो याह पदै हनुमाना चालीसा
होया सिद्ध साखी गौरीसा

तुलसीदास सदा हरि चेरा
कीजै नाथा हरदिहा महा डेरा

पावनतनया संकटा हरण मंगल मुरती रूपा
राम लखन सीता सहित हृदय बसहु सुर भूप

jai hanuman chalisa lyrics

Hanuman Chalisa In English

One thought on “Hanuman Chalisa Lyrics

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *